जाने हथेली में कहा क्या होता है ...

हमारे हाथ में 7 मुख्य रेखाएं होती है। साथ ही सात गौण रेखाएं होती है। इन रेखाओं का सभी के हाथ में होना आवश्यक नहीं है। वहीं कुछ लोगों के हाथों में मुख्य सात रेखाओं में से भी कुछ रेखाएं नहीं होती है।

यहां सभी महत्वपूर्ण सातों रेखाओं के चित्र दिए जा रहे हैं। इन चित्रों से रेखाओं को समझने काफी आसानी रहेगी। सातों रेखाओं को लाल रंग की लाइन से प्रदर्शित किया गया है।

1. जीवन रेखा: जीवन रेखा शुक्र क्षेत्र को घेरे रहती है। यह रेखा तर्जनी और अंगूठे के मध्य से शुरू होती है और मणिबंध तक जाती है।

2. हृदय रेखा: यह मस्तक रेखा के समानांतर चलती है तथा हथेली पर बुध क्षेत्र के नीचे से आरंभ होकर गुरु क्षेत्र की ओर जाती है।

3. मस्तक रेखा: यह हथेली के मध्य भाग में रहती है तथा जीवन रेखा के उदगम स्थल के समीप ही कही से आरंभ होकर द्वितीय मंगल क्षेत्र अथवा चंद्र क्षेत्र की ओर जाती है।

4. भाग्य रेखा: यह हथेली के मध्यभाग में रहती है तथा मणिबंध अथवा उसी के आसपास से आरंभ होकर शनि क्षेत्र को जाती है।

5. सूर्य रेखा: यह हथेली के मध्यभाग, मंगल क्षेत्र के मध्य से शुरू होकर या मस्तक अथवा हृदय के नीचे से आरंभ होकर सूर्य क्षेत्र की ओर जाती है।

6. स्वास्थ्य रेखा: यह बुध क्षेत्र से आरंभ होकर शुक्र की ओर जाती है।

7. विवाह रेखा: यह बुध क्षेत्र पर आड़ी रेखा के रूप में रहती है। यह रेखाएं एक से अधिक भी हो सकती हैं।

और अधिक जानने के लिए यहाँ  क्लिक करे

0 comments: