जब करनी हो बारगेनिंग

शॉपिंग में बारगेनिंग बहुत जरूरी है, लेकिन सभी ऐसा अच्छी तरह नहीं कर पाते। वैसे, हर गेम की तरह बारगेनिंग गेम के भी कुछ रूल्स हैं, जिन्हें फॉलो करके न सिर्फ प्रॉडक्ट को सही रेट में खरीदा जा सकता है, बल्कि शॉपकीपर के साथ अच्छी ट्यूनिंग भी बनाई जा सकती है : 
  • किसी भी आइटम के लिए बारगेनिंग करने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह खोजबीन कर लें। तमाम शॉप्स पर उसके रेट कंपेयर कर लें। इससे आपको आइटम की मार्केट वैल्यू का अंदाजा हो जाएगा। वैसे, सरकार ने कुछ जगह चीजों के दाम फिक्स भी कर रखें हैं। आप चाहें, तो अपनी रिसर्च वहीं से कर सकते हैं। 
  • शॉपिंग से पहले यह तय कर लें कि आखिर आपको क्या खरीदना है। इसके बाद आपको अपने पसंदीदा आइटम का मोल-भाव करने पर फोकस करना चाहिए। कई चीजें एक साथ पसंद करके दुकानदार को ऐसा कतई मत महसूस होने दीजिए कि आप क्या आइटम पसंद कर रहे हैं। वरना वह आपको ज्यादा रेट बता सकता है। 
  • अपने दिमाग में सोच लें कि फलां चीज के लिए आप कितनी रकम दे सकते हैं। हालांकि अगर आपको कुछ यूनीक आइटम्स मिल जाएं, तो उसके लिए ज्यादा पैसे खर्च करने के लिए तैयार रहें। जाहिर है कि आप को दोबारा उसे खरीदने का मौका नहीं मिलने वाला। 
  • हालांकि कभी-कभार खुद को शॉपकीपर की जगह भी रखकर देखना चाहिए। इससे आपको पता लगेगा कि कहीं आप उससे बेकार की डिमांड तो नहीं कर रहे। 
  • दुकानदार से अच्छे और पर्सनल रिलेशन बनाने की कोशिश करें। वैसे, अगर आप अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ आई कॉन्टेक्ट बनाना जानते हैं, तो ऐसा खुदबखुद हो जाएगा। ध्यान रखें कि दुकानदार की कभी इंसल्ट न करें। 
  • पहले दुकानदार को उसके रेट बोलने दें। उसे कभी यह अंदाजा न होने दें कि आप कितनी रकम देने के मूड में हैं। अगर आप पहले उसके रेट सुन लेंगे, तो फिर आप ज्यादा अच्छी तरह मोलभाव कर पाएंगे। 
  • अगर आप चाहते हैं कि दुकानदार आपको तसल्ली से चीजें दिखाए, तो अपने साथ एक्स्ट्रा टाइम लेकर जाएं। अगर आप जल्दी में शॉपिंग करने जा रहे हैं, तो निश्चित तौर पर आप ज्यादा पैसे खर्च करके आएंगे। 
  • मोलभाव करते वक्त कभी भी राउंड फिगर में अमाउंट ना बोलें। बजाय इसके 620 या फिर 1735 जैसी सेमी राउंड फिगर इस्तेमाल करें। इससे दुकानदार को लगेगा कि आपने मार्केट सर्च की हुई है। 
  • अगर दुकानदार आपके रेट के मुताबिक चीज नहीं दे रहा है , तो परेशान होने की बजाय उससे बात करना जारी रखें। अगर प्यार से बात करेंगे , तोदुकानदार आपको यह भी समझाने की कोशिश करेगा कि वह आपको कमरेट में चीज क्यों नहीं दे सकता। कभी भी ऐसा व्यवहार न करें कि दुकानदारकोई चोर है। 
  • बारगेनिंग की शुरुआत दुकानदार द्वारा मांगी गई रकम में से 40 फीसदीकम करके करें। उसके बाद अगले ऑफर में 35 पर्सेंट डिस्काउंट की डिमांडकर सकते हैं। अंत में दुकानदार आपको 20 फीसदी डिस्काउंट तो दे दी देगा। 
  • बारगेनिंग के दौरान अपने पसंदीदा आइटम को दोबारा निहारने लगें। इससे दुकानदार को फाइनल प्राइस सोचने का वक्त मिल जाएगा। हो सकताहै कि आप उसकी प्राइस पर हामी भर दें। 
  • फाइनल नेगोशिएशन के दौरान आपको काफी क्रिएटिव होने की जरूरतहै। अगर दुकानदार पैसे कम नहीं कर रहा है , तो स्टोर में जाकर कोई छोटाआइटम उठा लाइए और उसकी कीमत को अपने बिल में एडजस्ट करवा लेंया फिर आप शॉपकीपर से उसी प्राइस में कुछ एक्स्ट्रा की डिमांड कर सकते हैं।

0 comments: