ऑफिस में आपका पहनावा।


समय के साथ ऑफिस का कल्चर भी बदला है। ऑफिस में मेहनत और लगन से काम करना ही सफलता के लिए काफी नहीं है। आपको कई दूसरी चीजों का भी ध्यान रखना होता है और इनमें अहम होता है ऑफिस में आपका पहनावा। कपड़े ही आपका स्टाइल स्टेटमेंट होते हैं। ये आपकी सोच, ऊर्जा और फिटनेस के साथ-साथ काम करने के तरीके को भी बताते हैं। इन बातों को अपनाकर ऑफिस में बनाइए अपनी खास पहचान..

अलग हो आपका अंदाज
आमतौर पर बड़े और कॉरपोरेट ऑफिस में ड्रेस कोड होता है। ऐसे में आपके पास विकल्प सीमित होते हैं लेकिन जहां ड्रेस कोड नहीं है वहां आपको भीड़ से अलग दिखने की जरूरत है। इसके लिए कभी भी अपने कपड़ों या एसेसरीज को ऑफिस के इंटीरियर या कंपनी के लोगो के साथ मैच करके न पहनें। ऐसा करने से आप ऊर्जावान के साथ-साथ फिट महसूस करेंगे, जो आपकी प्रोफेशनल लाइफ के लिए बहुत जरूरी है।

व्यावहारिक हो एसेसरीज
एग्जीक्यूटिव क्लास के लोगों को उन एसेसरीज का इस्तेमाल करना चाहिए जो साधारण और व्यावहारिक हों जैसे एक अच्छी घड़ी, एक स्लिमफिट कैरी बैग। उन्हें धार्मिक चिन्हों, धागों, ब्रेसलेट और अंगूठियों का प्रदर्शन करने से बचना चाहिए। लोगों के बीच अपनी पहचान काम के आधार पर बनाएं, धर्म या मान्यताओं के आधार पर नहीं।

अपनी स्टाइल बनाएं
उन ब्रैंड, कट्स और प्रिंट या रंग के कपड़े पहनने से बचें जो आपके बॉस, मेंटर या साथी काम पर पहन के आते हैं। ऐसा करने से आपकी छवि कॉपी करने वालों की बनती है। अच्छा यह है कि आप सबसे अलग दिखें और ऑफिस में अपना नया स्टाइल बनाएं, जिसे कोई दूसरा कॉपी करे।

जोशीले हों आपके रंग
ऑफिस में उत्साहित और ऊर्जावान दिखना काफी अहम होता है। इसके लिए जरूरी शारीरिक और मानसिक फिटनेस की झलक आपके पहनावे में दिखती है। ऐसे में आप हफ्ते की शुरुआत चटख रंगों से करें। चटख रंग जोश, उत्साह और सकारात्मक सोच के प्रतीक होते हैं। पुरुषों के लिए गाढ़ी नीली, काली, जामूनी रंग की शर्ट अच्छी होगी, जबकि महिलाएं लाल, बैगनी, पिंक, ग्रे रंगों का चुनाव कर सकती हैं। जैसे-जैसे हफ्ता आगे बढ़ता जाए थोड़े हलके रंगों का इस्तेमाल करें। ऑफिस प्रोटोकॉल में कोई दिक्कत न हो तो शुक्रवार या शनिवार को आप कैजुअल ड्रेस से कर सकते हैं।

साफ-सफाई का रखें ध्यान
अच्छे कपड़े के अलावा ऑफिस एटिकेट्स भी काफी जरूरी चीज होती है। आप यह सुनिश्चित करें कि आपके शरीर से बदबू न आए और आपकी त्वचा, बाल और नाखुन स्वस्थ और साफ-सुथरे दिखें। पब्लिक डिलिंग का काम है तो इसका खास ख्याल रखें। अपना हाव-भाव अच्छा बनाए रखें, कंधों को सीधा रखकर चलें, बातचीत का अंदाज अच्छा हो और बातचीत करने के अपने कौशल को बढ़ाना न भूलें।

0 comments: