थ्री-डी नेल आर्ट : रंगीले नाखून

नाखूनों को डिफरेंट डिजाइन देना हो, तो हाल ही में आई तकनीक वॉटर डिजाइनिंग थ्री डाइमेंशन आर्ट आपके लिए अच्छा ऑप्शन रहेगा। यह नाखूनों पर दो या इससे ज्यादा रंगों को ब्लेंड करके तैयार की जाने वाली आर्ट है। इसके जरिए आप अपने नाखूनों के डिजाइन को तीन तरफ से देख सकती हैं। 
नाखूनों को संवारने के लिए इन दिनों एक नई टेक्नॉलजी आई है, जिसे वॉटर डिजाइनिंग थ्री डाइमेंशन आर्ट का नाम दिया गया है। इस तकनीक में पानी में नेल कलर्स डालकर नेचरल तरीके से नाखूनों को डिजाइन किया जाता है। दिलचस्प बात यह है कि इसमें किसी ब्रश का यूज नहीं किया जाता, बल्कि इस तकनीक के इस्तेमाल से डिजाइन नाखूनों पर खुद-ब-खुद आ जाता है। यानी बिना किसी टूल के आप नाखूनों पर एक दिलचस्प डिजाइन पा सकती हैं। 

क्या है यह 
इस नेल आर्ट डिजाइन में पानी और फिंगर टिप का इस्तेमाल किया जाता है। यह लेटेस्ट थ्री डिमेन्शन पर बेस्ड नेल आर्ट है। इसमें एक बाउल में पानी लेकर उसमें नेल पेंट डाल देते हैं। 'काइना नेल अकेडमी' के 'ब्यूटी टूल डिजाइनर' सुनील बजाज कहते हैं, 'यह नेल आर्ट का एक ऐसा तरीका है, जो नाखूनों को बिना छुए और बिना किसी ब्रश के इस्तेमाल के डिजाइन कर देता है। नाखूनों को कुछ ही मिनटों में ग्लैमरस दिखाने का यह सबसे आसान तरीका है।' 

आप जो डिजाइन चुनते हैं, उसके मुताबिक पानी में नेल कलर्स डाले जाते हैं। नेल डिजाइनिंग के इस पूरे प्रोसेस में इस तकनीक का सही इस्तेमाल बेहद मायने रखता है। सुनील बताते हैं, 'यह तकनीक पूरी तरह नेल पेंट को पानी में डालने के तरीके, उसमें नाखून डुबोने और निकालने के प्रोसेस पर बेस्ड है। इसमें नेल पेंट बाउल के तली में जाने की बजाय तैरना चाहिए। सही डिजाइन पाने के लिए इसमें नाखूनों को एक खास तरीके से नेल पेंट वाले पानी में डिप किया जाता है।' 

डिजाइन करने का तरीका 
इसमें सबसे पहले डिजाइन तय कर लिया जाता है। उसके बाद डिजाइन के मुताबिक इस्तेमाल किए जाने वाले नेल पेंट्स एक बाउल में एक खास प्रेशर के साथ डाले जाते हैं। इसके बाद इसमें नाखूनों को डुबोया जाता है और कुछ सेकंड में नाखूनों पर आपका मन-मुताबिक डिजाइन आ जाता है। डिजाइन को ज्यादा अट्रैक्टिव बनाने के लिए इनमें कवर बेस लगाया जाता है। कवर बेस लगाने से पहले आप इनमें कुछ सुधार लाना चाहें, तो वह भी कर सकते हैं। ये डिजाइंस पूरी तरह हटकर होते हैं और ब्रश से तैयार नहीं किए जाते। थ्री डाइमेंशन तकनीक होने से आप जो भी डिजाइन डलवाते हैं, वह तीनों तरफ से दिखाई देता है। इसमें बस एक बात का ध्यान रखें कि इस्तेमाल किए जाने वाले नेल पेंट अच्छी क्वॉलिटी के होने चाहिए। 

इंटरनैशनल नेल आर्ट एक्सपर्ट कहती हैं , ' मिनटों में नाखूनों को डिजाइन करने की इस तकनीक में समय व अपनी पसंद के डिजाइंस तो मिलही जाते हैं , साथ ही नाखूनों पर भी कोई साइड इफेक्ट नहीं होता। दरअसल, नेल पेंट्स हर किसी को सूट नहीं करते , जिससे साइड इफेक्ट्स होने केचांसेज रहते हैं। जबकि यह तकनीक नाखूनों को स्टाइल देने के साथ इन्हेंहेल्दी रखने में भी कारगर है। वैसे , यूरोप व कोरिया में यह खासतौर परपॉपुलर है। ' 

डिजाइन 
इस तकनीक की मदद से किसी भी तरह का डिजाइन नाखूनों पर बनवायाजा सकता है। लेकिन इसमें मार्बल , रेनबो , फॉरेस्ट , स्ट्राइप्स जैसे डिजाइनआपको ज्यादा मिल जाएंगे। वैसे , महिलाएं इस आर्ट को अपनी ड्रेस के साथमिक्स एंड मैच करवाने में यूज कर रही हैं , क्योंकि इनमें कई तरह के कलर्सव पैटर्न एक साथ यूज किए जा सकते हैं। दिलचस्प बात यह है कि अगर आपअपने नाखूनों को कोई खास शेप मसलन , लॉन्ग , वाइड वगैरह में दिखानाचाहती हैं , वह भी इस आर्ट की मदद से आसानी से हो जाता है। 

रिमूव करने का तरीका 
अगर आपको डिजाइन पसंद नहीं आया और आप उसे रिमूव करना चाहती हैं, तो इसका तरीका भी बहुत आसान है। इसके लिए नाखूनों को बस नॉर्मलनेल रिमूवर से साफ कर दें। 

This video illustrates the method to removing 3D acrylic nail art without a drill machine. This process is composed of the folowing steps-
  • Take a organic solution of nailpaint suspended homogeneously in a bowl.
  • Now take some lukewarm water in another bowl and dip your nails in it.
  • Now dip your nails in the bowl containing the organic solution.
  • The nail art will come loose. Now , take any blunt object and slowly scrape out the acyrclic nail art carefully. Make sure you do not hurt yourself.
  • Now dip cotton in a nail paint remover solution and rub it on the nails in order to remove the remaining traces of artwork present on them.
क्या हैं फायदे 
  • इससे नाखूनों में चमक आ जाती है। 
  • इससे नाखूनों पर से डेड सेल्स की लेयर्स हट जाती हैं। 
  • यह नाखूनों के टेक्सचर में सुधार लाने में भी मदद करता है। 
  • इसे हर नेल टाइप पर यूज किया जा सकता है। 
  • इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। 
  • यह हर एज ग्रुप के लिए है।

1 comment:

  1. शोभनम्
    उत्‍तम: लेख:


    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत प्रशिक्षण की कक्ष्‍या में आपका स्‍वागत है ।

    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर क्लिक करके कक्ष्‍या में भाग ग्रहण करें ।

    ReplyDelete