सर्वोत्तम रोगनाशक, आरोग्य एवं सौंदर्य प्रदाता नींबू

नींबू सदाबहार सर्वोत्तम रोगनाशक व  आरोग्य एवं सौंदर्य प्रदाता है। नींबू की कई किस्में हैं। सभी किस्म उपयोगी व फलदायी हैं।

नींबू का सेवन कैसे करें
किसी भी चीज का सेवन करने के लिए जानकारी पहले जरूरी है।
  1. नींबू का सेवन का सबसे आसान तरीका है कि एक ग्लासस गुनगुना पानी में नींबू निचोड कर पीलें।
  2. नींबू में अग्नि का बल होता है इसमें दो चुटकी सेंधा नमक या काला नमक अवश्य डालें ।
  3. नींबू वर्षाकाल में अधिक फायदेमंद होता है क्योंकि बरसात में हमेशा शरीर के अंदर दूषित तत्व (टाक्सिक) बनते हैं। उन्हें नींबू दूर करता है तथा बरसात में होने वाली तमाम बीमारियों से बचाता है।
  4. नींबू का रस हमेशा छानकर ही लेना चाहिए नींबू का बीज लेना उचित नहीं है।
  5. नींबू का रस कांच या मिट्टी के बरतन में ही रखें. काऱण अन्य धातु में यह जहरीला हो जाता है।
  6. जहां तक संभव हो कागजी नींबू इस्तेमाल करें।
सावधानी- 
  • जिन लोगों को दमा, खांसी, जुकाम की शिकायत हो, उन्हें नींबू नहीं लेना चाहिए।
नींबू एक, गुण अनेक 
  1. नींबू खट्टी ढकारों को दूर करता है, वायु विकार मिटाकर भूख बढ़ाता है, नींबू खाने को जल्दी हजम करता है, नीबू पेट के कीटाणुओं व कीड़ों को नष्ट करता है।किसी भी रूप में रोजाना नींबू का सेवन करना चाहिये
  2. थकान दूर कर स्फूर्ति का संचार करता है, पेट का दर्द ठीक करता है।
  3. भोजन के प्रति अरुचि दूर करने में सबसे ज्यादा लाभ कारी है।नींबू का पुराना अचार लाभकारी है।
  4. मुंह का स्वाद बढ़ाता है व कब्ज दूर करता है।
  5. हैजे से बचाव करता है, नींबू के रस में चीनी मिलाकर(शिकंजी) लेने से हैजे में आराम मिलता है।
  6. यात्रा में वमन रोकने व दूर करने का सरल उपाय नींबू है।
  7. खट्टे फलों में नींबू लेने से स्वास्थ्य को कोई हानि नहीं होती है। जोड़ों की खुश्की दूर करता है।
  8. दांतों तथा मुंह की बीमारियों से दूर रखता है, चीनी मिट्टी की कटोरी में नींबू का रस रखें, रोज उससे दांत साफ करें। दांत चमकेगा तथा पायरिया ठीक होगा।
  9. नींबू का रस शरीर के भीतर के टॉक्सिक (गंद) को बाहर निकालता है।
  10. बिच्छू व मधुमख्खियों के काटने पर नींबू के बीजों को पीसकर सेंधा नमक डालकर पिलायें कारण बीज बहुत कसैला होता है यह इनके जहर को मारता है। आमतौर ( रोज)पर बीज इस्तमाल ने करें।
  11. दूध तथा नींबू के रस में काली मसूर पीसकर मिलाएं, इसका उबटन लगायें, झाइया दूर होंगी।
  12. काली चाय में नींबू ङालकर पीने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है पेट में गैस नहीं बनती।
  13. नींबू का रस तेल की तरह बालों की जड, में लगाने से रूसी खत्म होती है।
  14. शुद्ध शहद में नींबू की शिकंजी पीने से मोटापा दूर होता है।
  15. नींबू के सेवन से सूखा रोग दूर होता है।
  16. नींबू का रस एवं शहद एक-एक तोला लेने से दमा में आराम मिलता है।
  17. नींबू का छिलका पीसकर उसका लेप माथे पर लगाने से माइग्रेन ठीक होता है।
  18. नींबू में पिसी काली मिर्च छिडक कर जरा सा गर्म करके चूसने से मलेरिया ज्वर में आराम मिलता है।
  19. निम्बू के रस तथा नमक पानी में मिलाकर नहाने से त्वचा का रंग निखरता है और सौंदर्य बढता है।
  20. नौसादर को नींबू के रस में पीसकर लगाने से दाद ठीक होता है।
  21. नींबू के बीज को पीसकर सर पर लगाने से गंजापन दूर होता है।
  22. रक्तक्षीणता दूर करता है नींबू के रस में, कच्चा टमाटर का रस मिलाकर पीयें।
  23. आधा कप गाजर के रस में नींबू निचोडकर पियें, रक्त की कमी दूर होगी।
  24. आधा कप पालक के रस में नींबू निचोडकर धीरे-धीरे करीब बीस मिनट तक पियें, रक्त की कमी दूर करेगा।
  25. गर्भाधान (गर्भ ठहरने में सहायक) एक दोनींबू का बीज पीस लें, घी में मिलाकर सेवन करें।
  26. आधा सीसा दर्द में नींबू का रस नाक में दो-दो बूंद डालना चाहिये।
  27. कान का दर्द हो तो अदरक पीसकर बगैर पानी अब नींबू का रस मिलायें(कहीं भी पानी इस्तमाल न करें)तथा कान में डालें।
  28. बहरापन हो तो नींबू के रस में दालचीनी का तेल मिलाकर डालें।
  29. कान का दर्द हो तो प्याज के रसमें भी मिलाकर डालें।
  30. कद्दू की सब्जी में नींबू निचोड कर अवश्य खायें।
  31. याददाश्त की कमी दूर करता है-1. नींबू के रस में सौंफ का रस मिलाकर लें। 2. चुकंदर के रस में नींबू का रस मिलाकर पियें।
  32. सरल प्रसव - पांचवे माह से गर्भवती स्त्री रोज नियम से नींबू की शिकंजी पिये।  रोजाना 1 गिलास पानी में नींबू का रस मिलाकर भी पी सकते है।
टिप्स
नींबू  के कुछ उपयोगी किचन टिप्स
  1. चावल पकाते समय उसमें नींबू की चार पांच बूंद डाल दें चावल चावल अलग अलग बनेगा।
  2. अंण्डा उबालते समय 4-5 बूंद नींबू डाल दें। अंडा चटकेगा नहीं।
  3. गोभी की सब्जी बनाते समय 3-4 बूंद नींबू का रस डाल दें बदबू नहीं आयेगी तथा गोभी का रंग सफेद।
  4. आलू उबालते समय नींबू 3-4 बूंद डाल दें तो आलू सफेद, भुर-भुरे रहेंगे। चीनी भी डाल सकते हैं।

0 comments: